Tuesday, 27 August 2019

hindi quotes about life and love / By DEEPAK BANSAL

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
IS RACHNA  ME ME AAPKE LIYE
love shayari in hindi for girlfriend
attitude status in hindi for boy
MOHABAAT SHAYRI LEKAR AAYA HU.
                                                 

                                              1.मुझसे ना पूछ पता मौत का!
                                                       इस जमाने में हर कोई कातिल है!
hindi quotes about life and love / By DEEPAK BANSAL
Mujhse na puch pata mout ka.
                                                   

1.जब तक जिंदा हूं पी लेने दो!
मुझे खामोशियों में जी लेने दो!
मौत ही आ जाए तो और बात है,
तुम्हारे होठों पे लगा जाम पी लेने दो!

                                                          

2.शर्म लाज पर ना किसी का पहरा है!
अब यहां जिस्म सिर्फ बिस्तर पर ठहरा है!
जिस्मानी ताल्लुकात हो गए अब फैशन है,
अब लोग बदलते हर रोज सेहरा है!

                                                         
ABOUT ME:ME DEEPAK BANSAL WRITER JO IS BLOG ME AAPKE LIYE APNI OR APNE MITRO DWARA RACHIT SHAYARI POETRY KHANIYA LEKAR AAYA HU JO AAPKE DIL TK PHUCH JAYE

FOR VIDEO:ARTICLE 370



Saturday, 17 August 2019

Article 370! कुछ सवाल! Part -2 By Deepak Bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
हैलो जैसा कि आपने मेरी पहली कविता पड़ी थी article 370 पे जो मैने आर्टिकल 370 के फायदों पर लिखी थी!
पर अभी भी कुछ सवाल जिंदा है! जिन्हे मैने इसमें लिखी है!
                                                           
1.धारा 370 हो गई अब पूरी 
पर लोगो की अभी भी है मज़बूरी
चुनौतियां अभी भी है बाकी ,
क्या लोग हो जाएंगे इस फैसले से राजी!
लोग अभी भी है व्हा जिहादी
क्या हम कर पायेंगे उन्हें अपना साथी
मजबूत सरकार का सपना क्या होगा साकार
फिर से ले रहा है लोगो के मन में राक्षस आकार
क्या हो जाएगी पत्थरबाजी बन्द 
लोगो के मन में उठ रहा है द्वंद
लोगो की जरूरतें क्या होगी पूरी 
क्या मिटा पाएंगे वो हमसे दूरी!
सवाल अभी जिंदा है,
कई लोगो के मन में अभी भी निंदा है!
ARTICLE 370
ARTICLE 370

                                                                ये भी पढ़िए: Article 370 part 1
For video:Article 370


Tuesday, 6 August 2019

Article 370 ! By Deepak bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman:
कश्मीर घाटी की हलचल पर आर्टिकल 370 को हटाने के फायदों पर लिखी एक संक्षिप्त कविता पसंद आए तो जरूर बताएं!

1.नए भारत की नयी पहचान!
कश्मीर है हमारा मान!
आजाद हुआ 370 की जंजीरों से,
पर घबरा रहा पाकिस्तान!
आजाद लोग आजाद धरती!
विकास की राह में सब हो जाओ भर्ती!
पक्ष विपक्ष सब हैरान है
सुन कर ये ऐलान है!
अब दौर गया except j&k का,
अब तो पूरा हिंदुस्तान है!
जहा खर्च हो जाता था करोड़ों रुपया सुरक्षा के नाम पे!
अब वहां होगा विकास एक देश के नाम पे!
हर बसिंदा होगा नागरिक भारतवर्ष का!
अधिकार मिलेगा उसे हर नागरिक का!
अब सर का ताज अलग ना होगा!
अब सबको हमपे नाज होगा!
मुद्दतो से देखा सपना अखंड भारत का अटल ने
अब वो सपना साकार होगा!
एक बार फिर हमारा देश आजाद होगा!
ARTICLE 370
ARTICLE 370


ये भी पढ़िए:Mohabbat Shayari.....




Monday, 22 July 2019

MOHABBAT SHAYRI IN HINDI.....BY ✍प्रज्ञा पंडा

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
इस पोस्ट में मोहब्बत को नया आयाम दिया गया है!
जिसे मोहब्बत शायरी शिषर्क से नवाजा गया है!
इसमें मोहब्बत शायरी इन images भी डाली गई है!
तो पढ़िएगा"✍प्रज्ञा पंडा" जी की शायरी


1.जो तुम्हारा हो ना पाया तो किसी और का नहीं बन पाऊंगा,
तुम्हारे सिवाय किसी और को कभी ना चाहूँगा,
सायद मेरी बदकिस्मती है कि मैं तेरा नहीं बन पाया,
तेरे याद में ही एक दिन मैं इस दुनिया को अलविदा कह जाऊंगा।


2.वास्तविक से जुड़ी बहुत सी इच्छाएं दिल में दबी है,
अल्फाज़ों से इज़हार कर रहे हैं क्योंकि हम एक कवि हैं।
सुकून से कुछ पल की जिंदगी बितानी है हमें,
इस दर्द तन्हाई मोह माया से वास्ता तोड़ना है चंद लम्हों के लिए।
सपनों को हक़ीक़त का आकार देना है,
माँ बाप के झोली में खुशियाँ देना है।
अपने दिल की सुन कर जिंदगी का लुप्त उठाना है,
ज़रूरतमंदों की खुशी के लिए थोड़ा सा कुछ काम करना है।
सही गलत का फर्क कुछ लोगों को समझाना है,
कोई महान कोई नीच नहीं होता ये उन्हें सिखाना है।

YE BHI PDIYEGA
love shayari in hindi for girlfriendthought of the day in hindi

FOR VIDEO:SHAYARI BLOGGER


Sunday, 21 July 2019

MOHABBAT SHAYARI IN HINDI...BY MISS NEHA SHAYARNA.

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...


Ye Shayari Miss Neha ji Ne Mohabbat ko dhyan me rkhkr 

love shayari in hindi for boyfriend

best whats app status in hindi likhi he.


 or Sath hi mohabbat shayri in images b dali h.to pdiyega or comment box me jrur btaye.


   1. खामोशी में आज दिल भर गया,
   दिल ना जाने ये कैसे हो गया!



1.महफ़िल में तेरे आए थे हम कभी उस जमाने में,
जिसने याद किया था कभी तेरे उस जमाने को..!!
MOHABBAT SHAYRI


2.माना रिश्तों में थोड़ी खटास थी,
लेकिन उन्ही रिश्तों में थोड़ी मिठास भी थी,
फ्रक बस इतना था,
जताना नहीं जानते थे हम कभी...
जिन रिश्तों में तुम्हारे प्यार की सौगात थी


3.दर्मियान वो एसा था मेरा ,
जिसमें पाया भी खुद को,
खोया भी खुद को ।
एसा एक आईना था मेरा,
जिसमें देखा भी  नहीं खुद को,
जाना भी नहीं खुद को।

बीच में आके फसा था मेरा....
मेरा वो इंतजार ...
जिसमें लिखा भी नहीं था कभी
मेरा वो एक दरमियान...!!

YE BHI PDIYE

                                        FOR VIDEOS: 1. SHAYARI BLOGGER



Wednesday, 10 July 2019

Mohabbat shayari in Marwari !by srwan kachhawaha

Shayar ki Kalam se dil ke Arman... 

राजस्थान की बात हो और यहां की मोहब्बत की बात ना हो !
ऐसा कैसे हो सकता है! तो लीजिए मेरे मित्र श्रवण की रचनाएं
मोहब्बत शायरी इन मारवाड़ी भाषा में जो आपको जरूर पसंद आयेगी!
और साथ ही उसकी images भी है!
1.:- भात :-
एक रुंक रा डाळा चार
नेरा सबरा भाषा,भेद,भिचार।
गोळ लोगा री दुनिया में...
कीकर मानलू...???
हेंग एक जेड़ा हेवे यार।


2.काळजा कड लेणी वो नार
मोहब्बतां सच्चियाँ होगी यार
उणे नैणा री वो धार
जियां मंझी होई तलवार
निजरांउ कत्ल करती हजार
फचे भी मैं उणां गुनेहगार
प्रीत लागी तो कोनी कदे
पण अबे घणा लागे आसार।

ये भी पढ़िए
मोहब्बत शायरी इन हिंदी..



Tuesday, 9 July 2019

Mohabbat shayari! मोहब्बत भरी शायरी by - Pankaj

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
इस पोस्ट में मोहब्बत को नया आयाम दिया गया है!
जिसे मोहब्बत शायरी शिषर्क से नवाजा गया है!
इसमें मोहब्बत शायरी इन images भी डाली गई है!
तो पढ़िएगा 'पंकज' जी की शायरी

1.मौत सबको आयेगी उससे डरना क्यूँ
इश्क़ होगा तो तकलिफ भी होगी पर घबराना क्यूँ
जिस्म की भूख ही मिटानी  हो तो तवायफ के पास जाओ
 यह प्यार का बहाना क्यूँ
मौत सबको आयेगी उससे डरना क्यूँ  इश्क़ होगा तो तकलिफ भी होगी पर घबराना क्यूँ जिस्म की भूख ही मिटानी  हो तो तवायफ के पास जाओ   यह प्यार का बहाना क्यूँ

2.खामोश था जब तक सोचा सब ने नाराज है।
जब अल्फाज निकले तो मालूम हुआ सबको शायर हुँ में यही खामोशी का राज है


2.तहजीब खानदानी हो तो क्या बात है 
जुबां मीठी हो तो क्या बात है 
करने को तो इज्जत सब करते है
पर वही अगर दिल से हो तो क्या बात है

2.ए दिल मेरे तू अजीज बहुत है मुझ को 
डर मत ! अब किसी को न दूँ में तुझ को 
जिसने खेल लिया तुझसे अव तक वो ठीक है 
अब यह मौका दोबारा न दूँ उस को

 3.देर रात बस बातें चलती है 
  खामोशी का इश्क़ कहां कोई समझती है



4.टूटा दिल, बिखरे जज्बात ,कटे फटे कुछ पन्ने
चन्द शायरी यही दिया है मुझे इश्क़ ने

5.इश्क़ का खेल चल रहा है  बस खिलाड़ी बदल रहा है


ये भी पढ़िए
lDil tutne ki kahani shayari ki jubani





Sunday, 7 July 2019

Shayari by आदित्य "अंश"

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...

मेरे मित्र आदित्य भाई की कुछ रचनायों से आपको रूबरू करवाता हूं! आशा है आपको जरूर पसंद आयेगी!
1. कलम पकड़ी किताब खोली
कुछ बाते जेहन में आयी है
ना जाने कौनसे पिछड़े जमाने के ये राग समेट के लाई है
की जोर से फेकू अगर तो कागज पर एक चित्र सा बन जाएगा
पर जो बाते है वो इतनी कली है कि देखने वाला दृष्टिहीन हो जायगा
की हर रोज काली शाही से लिखी खबर मेरे घर आती है!
चोरी डकैत लोकेट मार और महामारी की घटना सुनाती है


2.क्या ताज्जुब अग़र जुगनूँ सितारे हो जाए!
जो लहरों से डरते हो, वो किनारे हो जाए!
कुछ लोग, जो बेग़र्ज अकड़ लिए फिरते हैं
कभी फूँक मार दूँ तो सब गुब्बारे हो जाए!

2.न कोई बच पाया अबतक
बेपनाह हुस्न के शर से
जाम को भी नशा हो जाए
सिर्फ़ तुझे देखने भर से

ये भी पढ़िए
Mohabbat Shayari..

Saturday, 6 July 2019

Mohabbat Shayari | मोहब्बत भरी शायरी! By Amit Rusman..

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
मेरे मित्र अमित रसमन द्वारा रचित बहुत ही खूबसरत रचनाओं को मोहब्बत का नाम दिया है!
जिसका शिषर्क मैने मोहब्बत शायरी इन हिंदी रखा है!
साथ ही mohabbat shayari in images भी डाली है इसमें...
1.हम चराग अपनी रोशनी लुटाते हैं,
तब  जाकर  अंधेरे  दूर  जाते  हैं।

सितारे जानते है अपने चमक की हद,
जब ना रहे तो  खुद टूट जाते  हैं।

2.अंदर बाहर दौड़ लगाती हो तुम?
दिल में क्यों आती जाती हो तुम?

मुझे छोड़कर तो मुस्कुराती थी ना,
फिर क्यों अब मुँह बनाती हो तुम?

साथ उसके हो, बात मुझसे करती हो,
यार, कितना बेवक़ूफ़ बनाती हो तुम!

मुझसे कुछ तो सीखा होगा ना तुमने,
उससे तो वफ़ाएँ निभाती हो तुम?

सब से झूठ बोलता हुँ तुम्हारे बारे में,
सच कहूँ ? बहुत याद आती हो तुम।

इश्क़ और वफ़ा का ज्ञान देने वाली,
बाप को मोहब्बत सिखाती हो तुम?

2.इसी बात का दुःख मुझे उठाना पड़ता है,
वो मेरी नही है पर साथ निभाना पड़ता है।

मेरा ही दोस्त उसका शौहर बना हुआ है,
दोस्त से मुझको आँख चुराना पड़ता है।

मेरे पिछले शेर से कुछ तो समझो लोगों,
दोस्ती का कभी-कभी बड़ा हर्ज़ाना पड़ता है।

उसकी आँखों से यही शिकायत रहती है,
ना चाहते हुए भी आँख मिलाना पड़ता है।

इससे बड़ा और भला कौन सा ग़म होगा,
उसकी गली से रोज़ आना जाना पड़ता है।

मुझसे मिलना है? तो अपनी गाड़ी पीछे ले,
इसी रस्ते पर मेरा झोपड़ खाना पड़ता है।

मेरा ज़्यादा प्यार करना ले ना डूबे मुझे,
यही सोचकर उससे रूठ जाना पड़ता है।

रात भर तन्हाई में उसकी याद आती है,
और सुबह होते उसको भूल जाना पड़ता है।

अब जीने की कोई इच्छा नही है “रसमन”
कुछ रिश्ते बाक़ी हैं सो जीते जाना पड़ता है।


2.तेरे दर से जो खाली लौटेंगे तो आफ़त होगी,
मैकदे से जो होश में लौटेंगे तो आफ़त होगी।

तू एक दरिया सा कहीं बहता चला जाता है,
डूबकर इसमें जो ज़िंदा लौटेंगे तो आफ़त होगी।

तेरी दुनिया में हज़ारों आशिक़ो ने वजूद खो दिया,
हम जो हम बनकर ही लौटेंगे तो आफ़त होगी।

उसने चाँद की माँग करी थी मुझसे इक रोज़,
जो ख़ाली हाथ ही लौटेंगे तो आफ़त होगी।

मेरी अना को उसने झकझोर कर रख दिया “रसमन”

अब गर फिर उसी ओर लौटेंगे तो आफ़त होगी।
2.एक रास्ता है समंदर में ज़रा क़दम बढ़ाओ,
हिलेगा ये पर्वत भी ज़रा सा दम लगाओ।

पतवार का चप्पू टूट गया तो ग़म कैसा,
दोनो हाथ तो सलामत हैं ना नाव चलाओ।

तुमने आवारगी में गुज़ार दी तमाम ज़िंदगी,
जाते-जाते तो मेरे दोस्त कुछ नाम कमाओ।

तुम्हें जन्नत चाहिए थी ना? रास्ता बताऊँ?
जाओ कुछ फ़क़ीरों को खाना खिलाओ।

हर रात वो फ़ोन करके कहती है मुझसे,
“रसमन” कुछ लिखा है क्या? चलो सुनाओ!


2.आशिकों पर सलामती बरती नहीं जाती,
दिल जला भी  दूं  तो तीरगी नहीं  जाती।

कुछ ऐसी अना की  ज़िद है  मुझको की,
वो कसम भी दे तो आवारगी नहीं जाती।

यार, एक  हम  हैं  जो आंसू पिए जाते हैं,
एक तुम जिससे शराब भी पी नहीं जाती।

वो  दोस्त  जो  अब  दुश्मन  बना हुआ है,
मेरे ज़हन  से  उसकी  दोस्ती  नहीं जाती।

तू क्यों लिखा करता है  उस पर "रसमन"
उनसे तो एक ग़ज़ल भी  पढ़ी नहीं  जाती।
तिरगी अर्थ अंधेरा

2.वो  जहां  चाहता  है  चलो  उधर  जाएं,
आदतें  छोड़  अपनी  हम  सुधर  जाएं।

घर  आकर  दरवाज़ा खोला फिर सोचा,
कोई  नहीं है  अपना  हम  किधर  जाएं।

वो जो शख़्स रूठा है ना, मेरा आईना था,
अब  बिना  उसके कैसे भला संवर जाएं।

अब जो तू जा चुका है  तो दिल  ने कहा,
"रसमन" कुछ बचा  नहीं चलो मर जाएं।






3.किसने कहा, आदमी से प्यार करते हैं लोग,
सिर्फ़  पैसों  पर  ही  ऐतबार  करते हैं लोग।

सारा खेल तेरी जेब का है, जब तक भरी है, वल्लाह,
खाली हुई तो जीना यहां दुश्वार करते हैं लोग।

जिस चीज से जी जले जिस बात से गुस्सा आए,
वही  काम यहां  बार  बार  करते  हैं  लोग।

4.तुझको ही लिखा दस्तख़त में मैंने,
पाया कुछ नहीं पर बरकत में मैंने। 

मौत को काफ़ी नज़दीक से देखा है,
उम्र गुज़ारी उसकी हिजरत में मैंने।

तस्वीर देख कर चूमता रहता हूं उसे,
हर रात गुज़ारी इसी कसरत में मैंने।

तकदीर लिखी जाती है तो कोई और क्यों लिखे,
कुछ पन्ने जोड़े अपनी किस्मत में मैंने।

सब रसमन रसमन करते हैं अब,
इक ग़ज़ल लिखी थी फुरसत में मैंने।


5.मैं तैराकी से वाक़िफ नहीं 
डूबकर कहीं मर ना जाऊं
अपनी आंखों से कहो मुझे देखना बंद करें।


ये भी पढ़िए!
इश्क़ को दिल से जोड़ने वाली शायरी







Tuesday, 25 June 2019

Mohabbat shayari ....By Brij om Shukla(Veeru)

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
यहां मोहब्बत को पन्नों पर उकेरने की एक नायाब कोशिश मेरे मित्र brij om verru ने की है!
जो मोहब्बत से सरोबर है! तो पढ़िएगा और अपने सुझाव दीजियेगा!
यहां मोहब्बत शायरी images भी है! 

1. बदलते वक़्त ने यारो सब कुछ बदल दिया!
गुलाब मोहब्बत का उसने कुचल दिया!
किसी रोज देखा था उसे खिड़की पे उसकी,
मैं आज भी क्यों उसकी गलियों को चल दिया!
2.दिलो जॉ कई हिस्सों में बँट गई शायद..
उसके दिल से मेरी चाहत भी घट गई शायद..
बहुत भुलक्कड़ है हमे भी भूल गया होगा,
उसके सामने से मेरी तस्वीर हट गई शायद..

जिसे देखो उसे कोई ना कोई छोड़ कर गया,
लगता है जमाने से मोहब्बत मिट गई शायद ..

मिलता है वो सबसे जब भी कोई चाहे ..
एक हमको ही मिलने की इजाजत नहीं शायद..

हमने सुना था पत्थरों को पिघलते है आंसू,
अब आसुओं की जमाने से इज्जत गई शायद..

वो का रहा है दूर क्यों दम घुट रहा मेरा,
उसके कदमों में मेरी सांसे लिपट गई शायद!
2. पानी में  कोई तस्वीर बनाए बैठा हूं!
सरकती रेत की मुट्ठी दबाए बैठा हूं!
वो जा चुका है अब शहर छोड़ कर,
उसकी यादों की दुनिया बनाए बैठा हूं!
2.दिन गुजरता रहा शाम ढलती रही..
दिल तड़पता रहा,जाँ निकलती रही...
ख्वाब दे कर तो वो बेवफा हो गये...
उनकी खवाहिश मेरे दिल में पलती रही...
2. ये कैसा वक़्त का मंजर है तूफान सा आने वाला है...
बेटी को जिसने लूटा है वो भी तो बहनों वाला है...
सड़को पर इनको दौड़ाओ,पत्थर से इनको मारो अब..
जिंदा जलना तय इनका है, सीने में ऐसी ज्वाला है..


3 है बहारे सभी लोग भी यहां, चैन फिर भी मुझे मिलता नहीं...
काम कितने भी हो छोड़ देता हूँ,मैं तेरी यादों से बाहर निकलता नहीं...

 


4.कौन कहता है सिर्फ मिलना ही मोहब्ब्त है..
आसमां को भी जमी से चाहत है...
दो किनारों के सामने आने से राहत है...
प्यार तो गुनाह है, यहां मिलने की कब इजाजत है....


5. कुछ ख्याल रात भर ऐसे आते रहे..
रात भर हमको तनहा जगाते रहे..
किसी नस्तर सा बो दे रहे थे जख्म...
अश्क आंखों में भी मुस्कुराते रहे...


 ये भी पढ़िए
मोहब्बत भरी शायरी

For video:
Shayari blogger









Tuesday, 18 June 2019

Mohabbat shayari | मोहब्बत शायरी | मोहब्बत भरी शायरी -By Deepak bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...

Mohabbat shayari | मोहब्बत शायरी | मोहब्बत भरी शायरी

 yha mene khud ke sath jo hua or jo sbke sath hota h usko lekar Mohabbat shayari in hindi me aap logo ke samne lekar aaya hu.

yha love shayari in hindi for girlfriend bhi apke liye dali h.

Mene yha mohabbat shayari hindi images me b dali h.

1.जब तक जिंदा हूं पी लेने दो!
मुझे खामोशियों में जी लेने दो!
मौत ही आ जाए तो और बात है,
तुम्हारे होठों पे लगा जाम पी लेने दो!
Mohabbat shayari | मोहब्बत शायरी | मोहब्बत भरी शायरी

2.शर्म लाज पर ना किसी का पहरा है!
अब यहां जिस्म सिर्फ बिस्तर पर ठहरा है!
जिस्मानी ताल्लुकात हो गए अब फैशन है,
अब लोग बदलते हर रोज सेहरा है!


 2..एक दौर था उस दौर की बात ना कर!
एक मंजर था उस मंजर की बात ना कर!

एक महबूब था जिसकी मजार पर हम रोए थे,
उस मजार पर चड़ी चादर की बात ना कर!

एक वो थी जिसने सवारा था मुझे,
उसकी हंसी में छुपे असर की बात ना कर!

उसकी जुल्फो से खेलते वक्त को थाम लेना,
उस खेलते वक़्त के कहर की बात ना कर!

उसकी आंखे झिलमिलाती चांदनी सी थी,
उन आंखो में बहती लहर की बात ना कर!

तू मुझको भी अब अपने पास बुला ले,
इस सीने में घुलते जहर की बात ना कर!

एक दौर था उस दौर की बात ना कर
एक मंजर था उस मंजर की बात ना कर
love shayari in hindi for girlfriend
EK DOR THA US DOR KI BAAT NA KR


2.तेरे महखाने में पिए जा रहे है!
तेरे हुस्न का जाम लगाए जा रहे हैं!
ये तेरे हुस्न का असर है या प्यार है,
हम खुद को बेनकाब किए जा रहे है!


2.उस नींद की तलाश में सोता हूं मै
जाग जाग रात रोता हूं मै
दर्दे दिल की सिफारिश ना कर,
खुद को हर पल तनहा पाता हूं मै!
us nind ki talsh me sota hu me jaag jaag raat rota hu me
Nind ki talsh


2वो शमा क्या जिसे जलाने वाला ना हो!
वो इंसान क्या जिसे चाहने वाला ना हो!
wo sama kya jise jalame wala na ho

2.हर जख्म की दवा क्या होगी
हर वफा की सजा क्या होगी
जब किस्मत ही ऐसी हो,
तो मौत की वजह क्या होगी !
DARD ki shayari

2.मै खामोशी से चलता रहा अपनी राह पर
वो राह में मिली मुझे उसी राह पर
वो सामने से गुजरी मेरे उसी राह पर
और में राह तकता रहा उसकी उसी रह पर
me khamosi se chlta rha apni rah par


2.नशे सी आदत बन गई है वो,
सुर्र्क-ऐ- रंगत बन गयी है वो,
पीता था इस कदर सजदे में दोस्तो,
मेरी फकत इबादत बन गई है वो।
नशे सी आदत बन गई है वो, सुर्र्क-ऐ- रंगत बन गयी है वो, पीता था इस कदर सजदे में दोस्तो, मेरी फकत इबादत बन गई है वो।


2.ये आरज़ू हमे सोने नही देती
उनकी चाहत रोने नहीं देती
ये मुफ़लिसी गुनाह लगती है
पेट की भूख जब जीने नही देती।
आरज़ू

3.इस कदर आंखे नम है,जैसे आसुओं में दबा कोई सैलाब है!
इस क़दर रूह दागदार है,जैसे रूह ने ओडा बदनसीबी का हिजाब है!
इस कदर मैं रो रहा हूं,जैसे जिंदगी का आखरी हिसाब है!
इस कदर जज्बात बेकाबू है, जैसे मुद्दतो से पहन रखा  कोई नक़ाब है!
इस कदर आंखे नम है, जैसे आसुओं में दबा कोई सैलाब है!
इस कदर आंखे नम है,जैसे आसुओं में दबा कोई सैलाब है! इस क़दर रूह दागदार है,जैसे रूह ने ओडा बदनसीबी का हिजाब है! इस कदर मैं रो रहा हूं,जैसे जिंदगी का आखरी हिसाब है! इस कदर जज्बात बेकाबू है, जैसे मुद्दतो से पहन रखा  कोई नक़ाब है!  इस कदर आंखे नम है, जैसे आसुओं में दबा कोई सैलाब है!
Sad shayari



2.अब उन्हें हमारा छुना भी पसंद नहीं!
तिरस्कार कर साथ रहना भी पसंद नहीं!
तुम साथ रहो या नहीं,
अब हमे अकेले जीना भी पसंद नहीं!
dad shayari


3.तुझसे मोहब्बत बेशुमार की!
हर पल हजार बार की!
नसीब में तू है या नहीं,
तुझसे इजहारे मोहब्बत कई बार की!
mohabbat

4.मुकाम पाने को पागलपन भी जरूरी है!
मोहब्बत करने को आवारापन भी जरूरी है!
तू मिले ना मिले ना सही,
तेरे इंतज़ार में अधूरापन भी जरूरी है!

mohabbat


                                    ये भी पढ़िए  : आशा करता हूँ  मेरी लिखी मोहब्बत शायरी  आप लोगो को पसंद आयी होगी ! तो जुड़े रहिये और  पढ़ते  रहिये!

                                    Sad Hindi shayari

                                    Mohabbat shayari

FOR VIDEOS:
PLEASE VISIT THIS LINK:SHAYARI BLOGGER