Tuesday, 25 June 2019

Mohabbat shayari ....By Brij om Shukla(Veeru)

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
यहां मोहब्बत को पन्नों पर उकेरने की एक नायाब कोशिश मेरे मित्र brij om verru ने की है!
जो मोहब्बत से सरोबर है! तो पढ़िएगा और अपने सुझाव दीजियेगा!
यहां मोहब्बत शायरी images भी है! 

1. बदलते वक़्त ने यारो सब कुछ बदल दिया!
गुलाब मोहब्बत का उसने कुचल दिया!
किसी रोज देखा था उसे खिड़की पे उसकी,
मैं आज भी क्यों उसकी गलियों को चल दिया!
2.दिलो जॉ कई हिस्सों में बँट गई शायद..
उसके दिल से मेरी चाहत भी घट गई शायद..
बहुत भुलक्कड़ है हमे भी भूल गया होगा,
उसके सामने से मेरी तस्वीर हट गई शायद..

जिसे देखो उसे कोई ना कोई छोड़ कर गया,
लगता है जमाने से मोहब्बत मिट गई शायद ..

मिलता है वो सबसे जब भी कोई चाहे ..
एक हमको ही मिलने की इजाजत नहीं शायद..

हमने सुना था पत्थरों को पिघलते है आंसू,
अब आसुओं की जमाने से इज्जत गई शायद..

वो का रहा है दूर क्यों दम घुट रहा मेरा,
उसके कदमों में मेरी सांसे लिपट गई शायद!
2. पानी में  कोई तस्वीर बनाए बैठा हूं!
सरकती रेत की मुट्ठी दबाए बैठा हूं!
वो जा चुका है अब शहर छोड़ कर,
उसकी यादों की दुनिया बनाए बैठा हूं!
2.दिन गुजरता रहा शाम ढलती रही..
दिल तड़पता रहा,जाँ निकलती रही...
ख्वाब दे कर तो वो बेवफा हो गये...
उनकी खवाहिश मेरे दिल में पलती रही...
2. ये कैसा वक़्त का मंजर है तूफान सा आने वाला है...
बेटी को जिसने लूटा है वो भी तो बहनों वाला है...
सड़को पर इनको दौड़ाओ,पत्थर से इनको मारो अब..
जिंदा जलना तय इनका है, सीने में ऐसी ज्वाला है..


3 है बहारे सभी लोग भी यहां, चैन फिर भी मुझे मिलता नहीं...
काम कितने भी हो छोड़ देता हूँ,मैं तेरी यादों से बाहर निकलता नहीं...

 


4.कौन कहता है सिर्फ मिलना ही मोहब्ब्त है..
आसमां को भी जमी से चाहत है...
दो किनारों के सामने आने से राहत है...
प्यार तो गुनाह है, यहां मिलने की कब इजाजत है....


5. कुछ ख्याल रात भर ऐसे आते रहे..
रात भर हमको तनहा जगाते रहे..
किसी नस्तर सा बो दे रहे थे जख्म...
अश्क आंखों में भी मुस्कुराते रहे...


 ये भी पढ़िए
मोहब्बत भरी शायरी

For video:
Shayari blogger









Tuesday, 18 June 2019

Mohabbat shayari | मोहब्बत शायरी | मोहब्बत भरी शायरी -By Deepak bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...

Mohabbat shayari | मोहब्बत शायरी | मोहब्बत भरी शायरी

 yha mene khud ke sath jo hua or jo sbke sath hota h usko lekar Mohabbat shayari in hindi me aap logo ke samne lekar aaya hu.

yha love shayari in hindi for girlfriend bhi apke liye dali h.

Mene yha mohabbat shayari hindi images me b dali h.

1.जब तक जिंदा हूं पी लेने दो!
मुझे खामोशियों में जी लेने दो!
मौत ही आ जाए तो और बात है,
तुम्हारे होठों पे लगा जाम पी लेने दो!
Mohabbat shayari | मोहब्बत शायरी | मोहब्बत भरी शायरी

2.शर्म लाज पर ना किसी का पहरा है!
अब यहां जिस्म सिर्फ बिस्तर पर ठहरा है!
जिस्मानी ताल्लुकात हो गए अब फैशन है,
अब लोग बदलते हर रोज सेहरा है!


 2..एक दौर था उस दौर की बात ना कर!
एक मंजर था उस मंजर की बात ना कर!

एक महबूब था जिसकी मजार पर हम रोए थे,
उस मजार पर चड़ी चादर की बात ना कर!

एक वो थी जिसने सवारा था मुझे,
उसकी हंसी में छुपे असर की बात ना कर!

उसकी जुल्फो से खेलते वक्त को थाम लेना,
उस खेलते वक़्त के कहर की बात ना कर!

उसकी आंखे झिलमिलाती चांदनी सी थी,
उन आंखो में बहती लहर की बात ना कर!

तू मुझको भी अब अपने पास बुला ले,
इस सीने में घुलते जहर की बात ना कर!

एक दौर था उस दौर की बात ना कर
एक मंजर था उस मंजर की बात ना कर
love shayari in hindi for girlfriend
EK DOR THA US DOR KI BAAT NA KR


2.तेरे महखाने में पिए जा रहे है!
तेरे हुस्न का जाम लगाए जा रहे हैं!
ये तेरे हुस्न का असर है या प्यार है,
हम खुद को बेनकाब किए जा रहे है!


2.उस नींद की तलाश में सोता हूं मै
जाग जाग रात रोता हूं मै
दर्दे दिल की सिफारिश ना कर,
खुद को हर पल तनहा पाता हूं मै!
us nind ki talsh me sota hu me jaag jaag raat rota hu me
Nind ki talsh


2वो शमा क्या जिसे जलाने वाला ना हो!
वो इंसान क्या जिसे चाहने वाला ना हो!
wo sama kya jise jalame wala na ho

2.हर जख्म की दवा क्या होगी
हर वफा की सजा क्या होगी
जब किस्मत ही ऐसी हो,
तो मौत की वजह क्या होगी !
DARD ki shayari

2.मै खामोशी से चलता रहा अपनी राह पर
वो राह में मिली मुझे उसी राह पर
वो सामने से गुजरी मेरे उसी राह पर
और में राह तकता रहा उसकी उसी रह पर
me khamosi se chlta rha apni rah par


2.नशे सी आदत बन गई है वो,
सुर्र्क-ऐ- रंगत बन गयी है वो,
पीता था इस कदर सजदे में दोस्तो,
मेरी फकत इबादत बन गई है वो।
नशे सी आदत बन गई है वो, सुर्र्क-ऐ- रंगत बन गयी है वो, पीता था इस कदर सजदे में दोस्तो, मेरी फकत इबादत बन गई है वो।


2.ये आरज़ू हमे सोने नही देती
उनकी चाहत रोने नहीं देती
ये मुफ़लिसी गुनाह लगती है
पेट की भूख जब जीने नही देती।
आरज़ू

3.इस कदर आंखे नम है,जैसे आसुओं में दबा कोई सैलाब है!
इस क़दर रूह दागदार है,जैसे रूह ने ओडा बदनसीबी का हिजाब है!
इस कदर मैं रो रहा हूं,जैसे जिंदगी का आखरी हिसाब है!
इस कदर जज्बात बेकाबू है, जैसे मुद्दतो से पहन रखा  कोई नक़ाब है!
इस कदर आंखे नम है, जैसे आसुओं में दबा कोई सैलाब है!
इस कदर आंखे नम है,जैसे आसुओं में दबा कोई सैलाब है! इस क़दर रूह दागदार है,जैसे रूह ने ओडा बदनसीबी का हिजाब है! इस कदर मैं रो रहा हूं,जैसे जिंदगी का आखरी हिसाब है! इस कदर जज्बात बेकाबू है, जैसे मुद्दतो से पहन रखा  कोई नक़ाब है!  इस कदर आंखे नम है, जैसे आसुओं में दबा कोई सैलाब है!
Sad shayari



2.अब उन्हें हमारा छुना भी पसंद नहीं!
तिरस्कार कर साथ रहना भी पसंद नहीं!
तुम साथ रहो या नहीं,
अब हमे अकेले जीना भी पसंद नहीं!
dad shayari


3.तुझसे मोहब्बत बेशुमार की!
हर पल हजार बार की!
नसीब में तू है या नहीं,
तुझसे इजहारे मोहब्बत कई बार की!
mohabbat

4.मुकाम पाने को पागलपन भी जरूरी है!
मोहब्बत करने को आवारापन भी जरूरी है!
तू मिले ना मिले ना सही,
तेरे इंतज़ार में अधूरापन भी जरूरी है!

mohabbat


                                    ये भी पढ़िए  : आशा करता हूँ  मेरी लिखी मोहब्बत शायरी  आप लोगो को पसंद आयी होगी ! तो जुड़े रहिये और  पढ़ते  रहिये!

                                    Sad Hindi shayari

                                    Mohabbat shayari

FOR VIDEOS:
PLEASE VISIT THIS LINK:SHAYARI BLOGGER

I recommend you to open a FREE trading and demat account with Edelweiss in 15 minutes. 


Paperless, Hassle-free and quick


https://bit.ly/2w9wQs2

and 

for protection of your family take a term plan right now...life is too much scary in today's world so protect your family.

For any query call 09549522228








Monday, 17 June 2019

Mohabbat shayari...by Nitika

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...


Love Shayari In Hindi For Boyfriend



"मोहब्बत" भी होती हैं दिल भी टूटता है! पर फिर भी "इश्क़" करना और उसके बारे में "2 लाइन" कहना बस इसी बात की कोशिश की है!  Written by Nitika



1.तेरी यादों में रहता है ये दिल!
तेरी ही राह तकता है ये दिल!
तेरी हूं तुझमें ही खो जाऊंगी!
मेरी जिंदगी तेरे नाम कर जाऊंगी!

2.हमने देखा है लोगो को मुकरते हुए!

हमसे बेरुखी करते हुए!

रहना था जिनके दिल में,

हमने देखा है उनको नज़रे चुराते हुए!

अब तो बस वफ़ा का नाम ही रह गया,

हमने देखा है लोगो को बेदर्द बनते हुए!

मिट गई हस्ती मेरी,
फिर भी देखा है खुद को संवरते हुए!
हमने देखा है लोगो को मुकरते हुए!




YE BHI PDIYE

1.SAD HINDI SHAYARI

2.मोहब्बत भरी शायरी

Sunday, 16 June 2019

Happy Father's day| एक पिता का सच -By Deepak Bansal

Shayar ki Kalam se dil ke ArMan
ये एक पिता की सच्ची कहानी कविता के रूप में special father's day के दिन लिखी है!
जो एक भावुक कविता जो आपको अपने पिता का दर्द बयां करेगी!


1.पिता कहने को एक छोटा सा शब्द पर वास्तविकता  में काफी बड़ा अर्थ
तो आओ  सुनाई एक पिता की
कहानी शायरी की जुबानी
उस आदमी की कुर्बानी जिसकी किसी ने ना मानी
मै छोटा था और ना समझ भी
वो मुझे अपनी रोटी के बीच का हिस्सा खिलाता था!
और खुद भुका ही रह जाता था!
दिन भर वो मेहनत करता था!
फिर भी शाम को खुश होकर ही घर आता था!
खुद ना पढ़ पाया पर मुझे हमेशा प्राइवेट स्कूल में पढ़ाया!
अनपढ़ ना रह जाऊं यही उसकी तकलीफ थी,
इसलिए उसने हमेशा मुझे दुनिया भर से लड़ना सिखाया!
कभी जिंदगी में उसने मुझपे हाथ ना उठाया!
कभी डाटा भी तो मैं ही उसपे चिलाया !
सर्द रातों में खुद नंगे बदन रह के भी उसने मुझे कम्बल ओडाया!
खुद 2 पैसे बचाने को हमेशा साइकिल पे चला!
पर मुझे हमेशा बाइक पे रास्ता दिखाया!
मेरे सामने मुझे बुरा भला कह खुद बुरा कहलाया!
और अन्दर ही अंदर खुद रोकर अपना रोना छिपाया!
उसकी तकलीफ का अंदाजा ना था,
इसलिए मै उसे कोसता था!
पर उसे आने वाली हर तकलीफ का अंदाजा था!
वो चाहता था में दुनिया से लड़ सकु,
इसलिए खुद मुझे समझाता था!
साथ ना दिया उसका किसी परिवारवाले ने,
पर वो खुद शरीर से लाचार पर बुलंद हौसलों का पुलिंदा था!
बिस्तर पर गुजारे उसने ना जाने कितने महीने,
पर फिर भी उसे हमारा ही ख्याल था!
खुद की तकलीफ से ज्यादा उसे,
हमारी जिंदगी संवारने से प्यार था!
चल ना पाया तो,
लकड़ी के सहारे उसने लडने का बीड़ा उठाया था!
उसकी इसी तकलीफ ने हमें इस लायक बनाया था!
वो पिता था साहेब वो पिता था,
जो अंगारों पे जिस्म जला पिता कहलाया था!
जो अंगारों पे जिस्म जला पिता कहलाया था!

For video please visit this Link


Thursday, 13 June 2019

Attitude shayari...-by Deepak bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
ये शायरी उन लोगो को attitude show krne ke liye jinhone hame tnha chod Diya

1.दिल की बात करता नहीं मैं!
आंखे किसी की पढ़ता नहीं मैं!
ज़बान सम्भाल कर बात कर ए जालिम,
किसी के आगे झुकता नहीं मैं!
yh bhi padhein - 


युवराज सिंह...|दर्द शायरी

Tuesday, 11 June 2019

युवराज सिंह...|दर्द शायरी- by Deepak bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
युवराज सिंह का दर्द बयां करती है ये शायरी

1.क्यों इतना परेशान से रहने लगे हों!
जिंदा हो पर मुर्दा से लगने लगे हों!
खुश हो पर फिर भी इतना खामोश से रहने लगे हों!
मायूसियत के माहौल से बाहर निकलने लगे हों!
पर फिर भी क्यों इतना परेशान से रहने लगे हों!


Monday, 10 June 2019

जाग रहा हूं| Sad shayari in hindi-by Deepak bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
Andheri raato me jaagne wale "Dard" ke saye me rhne wale

 1.इन अंधेरी रातो में फिर से जाग रहा हूं मैं!
तेरे दामन की आस में खुद को साझ रहा हूं मैं
हवाए भी मुझसे है खफा,
क्यों तुझसे एहसास मांग रहा हूं मैं
चांद भी कर रहा दूरी मुझसे,
क्यों तुझसे चांदनी मांग रहा हूं मैं
तारो से पूछता हूं पता तेरा,
पर खुद तेरे दर पे खुद को दाग़ रहा हूं मैं।
आज फिर क्यों इन अंधेरी रातों में जाग रहा हूं मैं!



For video please visit shayari blogger on you tube




Saturday, 8 June 2019

हैवानियत .. पर सवाल...|Aligarh murder -by Deepak Bansal


Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
बच्ची से दरिंदगी पर कुछ सवाल...
अलीगढ़ कांड मासूम को न्याय दिलाने के लिए



उस बच्ची के दर्द का एहसास तुम क्या जानो!
उसकी आंखो से निकलते रक्त का एहसास तुम क्या जानो!
चिर दिए हाथ दरिंदो ने उसके,
उसके खोफ का एहसास तुम क्या जानो!
बच्ची थी वो ढाई बरस की,
हैवानियत से लडने का हौसला तुम क्या जानो!
हम करते सिर्फ कैंडल मार्च ,
दरिंदो को सजा देने का सुकून तुम क्या जानो!
मौत भी डर जाए ये दरिंदगी देख,
पर फेसबुक से बाहर की दुनिया तुम क्या जानो!
हम है कायर घर पर बैठे ,
सड़को पर उतर हैवानों को मौत के घाट उतारना तुम क्या जानो!
आंख के बदले आंख और हाथ के बदले हाथ उखाड़ने का असली अवसर तुम क्या जानो!
अब बस मुझे इंसाफ चाहिए ,उस लड़की की पुकार अब तो जानो अब तो जानो!

Friday, 7 June 2019

Mohabbat Shayari! मोहब्बत भरी शायरी by srwan kachhawaha

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...


Written by my friend sarwan kachhawaha  "Dil"Nikal ke rakh dene wali "sad" "shayari"
1. मन्नत है मेरी उस अलग जहां के खुदा से
लौटा दे मेरा वो जहॉ अपने उस जहॉ से!

2.सोचो तो.. उस शख्स पे क्या गुजरी होगी
जिसके पास से तेरी सबा गुजरी होगी
मखमल के बिस्तर में कहां वो  सो पाये 
जिसके बाजू तू एक दफा गुजरी होगी
2.खाली को सुरूर मार जाता है
भारी को गुरूर मार जाता है
मुकदर के सिकंदरो को अक्सर
जहरै मै.. मच्छर मार जाता है!
2.हम इश्क़ में दिये बने जलते रहे
उजाले बेवफा के घर में होते रहे

अपने हिस्से का वो रोके यूहीं रुक गये
गमों तन्हाई हमें यूहीं झरने समझते रहे!

मै दरख़्त सूखने को जड़े जलाता रहा
वो आंसू मुझे जिंदा समझें बरसते रहे!

मरहम चोट के कुछ यु रिश्ते हुए की
वो घाव पे नमक लगाते हम  हँसते रहें!

ये भी पढ़िए
Mohabbat Bhari shayari





Wednesday, 5 June 2019

Occasion specials-by Deepak bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman..
इस भाग में मैने अलग अलग hindi occasion special shayari likhi h.
Or whi occasion special SMS ki trh bhi istemal kr site he.

Birthday wishes

1.चाहा है तुझे जान कि तरह!
तू मुझमें समायी है अज़ान की तरह!
तुझे मुबारक जन्मदिन तुम्हरा,
ये दिन है खुशनुमा अरमान की तरह!



.

इस शायरी में रोज के बाद चांद का इंतेज़ार और उसके बाद
सभी मजहबी लोगो को दिल मिलने की बात कही है

2.तारो की छाव में इन लंबी राहों में कोई एक बासिंदा बैठा है!
उसकी झलक की आस में एक दीवाना रोता है!
हम तो है इस दिल के मालिक जहा आकर सब खोता है!
हम तो है बस इस दिल के मालिक जहा आकर सब खोता है!
ईद मुबारक....

ये भी पढ़िए.
1.होली स्पेशल2.Valentine's day3.Marriage anniversary Special

4.Mohabbat Shayari.

Sunday, 2 June 2019

नफ़रत.....love shayari-by Deepak bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...

1.नफ़रत कुछ इस कदर करना मुझसे, की मोहब्बत का पैमाना भी हो जाए!
कमी हुई नफ़रत में तेरी,तो मोहब्बत मेरी भी झूठी हो जाए!
एक तरफा प्यार की गुजारिश ना की थी, पर ये नफ़रत दो तरफा हो जाए!
देखें तू मुझको एक नजर तो नज़रे मेरी भी झुक जाए!
नफ़रत कुछ इस कदर करना मुझसे की मोहब्बत का पैमाना भी हो जाए!