Saturday, 28 March 2020

SAD SHAYARI..

SAD SHAYARI..


KBHI KBHI JINDAGI KA SAD PART SHAYRI BNKE NIKLTA H. JO ASE SMAY ME LIKHI JATI H. JB SAD BNDA NA RO SKTA H OR NA HI HAS SKTA H. TB JO SAD SHAYARI NIKLTI H. WO LOGO KE DILO KO VERY SAD MODE ME LE AATI H. TO SAD SHAYRI IN HINDI IMAGES KE SATH YHA AAPKE SAMNE H. NEW SAD SHAYARI KE LIYE JUDE RHAIYE..ROMANTIC SHAYARI MOHABBAT SHAYARI KE LIYE BS JUDE RHAIYE


लिखा तो बहुत है नहीं जाएगा !
                     इस खुशी के माहौल को गमगीन नहीं बनाया जाएगा !
रोक दो बात यही पर,
अब इस माहौल को खुशनुमा बनाया जाएगा !


तकसीम इस कदर भी न कर हमें ,
तिरा भी न रहे न खुदा का डर हमे !
अक्सरियत का न हमदर्द -ए - अकलियत ,
यही तिरा निज़ाम जाने दे मर हमें !!


मेरा कल मेरे आज के आगे खड़ा हो जाता है
एक छोटा सा किस्सा कब कितना बड़ा हो हैं !


हकीकत हे तू  फर्ज न बन !
मुहब्बत है  तू कर्ज न बन !!
समझ  सके तो इतना समझ,
मेरी दवा है तू  मर्ज़ न बन !!

आशा करता हूँ आप लोगो को SAD SHAYARI पसंद आयी होगी!इस तरह की और शायरी पढ़ने के लिए जुड़े रहिये !

  1. TAGS:MOHABBAT SHAYARI
  2. ARTICLE 370


No comments:

Post a comment