Sunday, 12 April 2020

MIRZA GHALIB SHAYARI!

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...


MIRJA GHALIB SHAYARI
मिर्ज़ा ग़ालिब शायरी



INTRODUCTION OF MIRJA GHALIB(मिर्ज़ा ग़ालिब )

जन्म दिनांक :27/12/1797
जन्म स्थान :आगरा
पूरा नाम :मिर्ज़ा असदुल्लाह बैग खान 
मृत्यु :15/02/1869
मृत्यु स्थान : दिल्ली 
पत्नी :उमराओ बेगम 




मिर्ज़ा ग़ालिब उर्दू के मशहूर शायर थे ! वो हमारे बीच नहीं है पर उनके शेर आज भी हमारे जहन में उन्हें जिन्दा रखने में कामयाब रहे है ! उनके जैसे अद्भुत शायर दुबारा शायद ही कभी जन्म लेगे ! तो पेश हे खिदमत मिर्ज़ा ग़ालिब के मशहूर शेर, मिर्ज़ा ग़ालिब शायरी इन हिंदी ,मिर्ज़ा ग़ालिब शायरी इन हिंदी २ लाइन्स,शायरी ऑफ़ मिर्ज़ा ग़ालिब ऑन इश्क़ !!



MIRJA GHALIB URDU KE MASHUR SHAYAR THE. WO HMARE BITCH NHI H, PAR UNKE SHER AAJ BHI HMARE JHAN ME UNHE JINDA RKHNA ME KAMYAB RHE HE. UNKE JESE ADBHUT SHAYR DUBARA SHAYAD HI KBHI JANAM LEGE. TO PESH HE KHIDMAT MIRJA GHALIB KE MASHUR SHER,MIRJA GHALIB SHAYARI IN HINDI, MIRJA GHALIB SHAYARI IN HINDI 2 LINES, SHAYARI OF MIRJA GHALIB ON ISHQ.


MIRJA GHALIB SAD SHAYARI

मिर्ज़ा ग़ालिब सैड शायरी






MIRZA GHALIB SHAYARI!
MIRJA GHALIB SHAYARI
1.रगों में दौड़ते फिरने के हम नहीं क़ायल,
जब आँख ही से न टपका तो फिर लहू क्या है!!



RAGO ME DODTE FIRNE KE HM NHI KAYAL,
JB AAKHO HI SE N TAPKA TO FIR LAHU KYA HE !!




MIRZA GHALIB SHAYARI!



2.वो आए घर में हमारे, खुदा की क़ुदरत हैं!


WO AAYE GHAR ME HMARE,KHUDA KI KUDARAT HE!
KBHI HM UNKO,KBHI APNE GHAR KO DEKHTE HE !!




MIRZA GHALIB SHAYARI!



3.हर एक बात पे कहते हो तुम कि तू क्या है!
तुम्हीं कहो कि ये अंदाज़-ए-गुफ़्तगू क्या है!!

HAR EK BAAT PE KHTE HO TUM KI TU KYA HE!
TUMHI KHO KI YE ANDAJ -AE-GUFTGU KYA HE!!



MIRJA GHALIB SHAYARI IN URDU

मिर्ज़ा ग़ालिब शायरी इन उर्दू 



MIRZA GHALIB SHAYARI!




4.हुई मुद्दत कि 'ग़ालिब' मर गया पर याद आता है,
वो हर इक बात पर कहना कि यूँ होता तो क्या होता !!


HUI MUDDAT KI 'GALIB' MAR GYA PAR YAAD AATA HE,
WO HAR EK BAAT PAR KHNA KI YUH HOTA TO KYA HOTA !!




MIRZA GHALIB SHAYARI!





5.बिजली इक कौंध गयी आँखों के आगे तो क्या,
बात करते कि मैं लब तश्न-ए-तक़रीर भी था!!


BIJLI EK KOUNDH GAYI AAKHO KE AAGE TO KYA,
BAAT KRTE KI ME LB TASN-AE-TAKRIR BHI THA !!






MIRZA GHALIB SHAYARI!




6.यही है आज़माना तो सताना किसको कहते हैं,


YAHI HE AAJMANA TO SATANA KISKO KHTE HE,
ADU KE HO LIYE JB TUM TO TERA IMTEHA KU HO!!




MIRJA GHALIB SHAYARI HINDI STATUS

मिर्ज़ा ग़ालिब शायरी हिंदी स्टैटस 





MIRZA GHALIB SHAYARI!





7.हमको मालूम है जन्नत की हक़ीक़त लेकिन,
दिल के खुश रखने को 'ग़ालिब' ये ख़याल अच्छा है!!


HMKO MALUM HE JANNAT KI HAKIKAT LEKIN,
DIL KE KHUS RKHNE KO 'GALIB" YE KHYAL ACHA HE !!




MIRZA GHALIB SHAYARI!





8.इश्क़ पर जोर नहीं है ये वो आतिश 'ग़ालिब',
कि लगाये न लगे और बुझाये न बुझे!!



ISHQ PAR JOR NHI HE YE WO AATISH 'GALIB',
KI LGAYE N LAGE OR BHUJAYE N BHUJE!!





MIRZA GHALIB SHAYARI!






9.तुम न आए तो क्या सहर न हुई!
हाँ मगर चैन से बसर न हुई!!
मेरा नाला सुना ज़माने ने,
एक तुम हो जिसे ख़बर न हुई!!


TUM N AAYE TO KYA SAHER N HUI !
HA MAGAR CHAIN SE BASAR N HUI!!
MERA NALA SUNA JAMANE NE,
EK TUM HO JISE KHBAR N HUI!!





MIRZA GHALIB SHAYARI!




10.जला है जिस्म जहाँ दिल भी जल गया होगा,
कुरेदते हो जो अब राख जुस्तजू क्या है!!



JALA HE JISM JAHA DIL BHI JAL GYA HOGA,
KUREDTE HO JO AB RAKH JUSTJU KYA HE !!


#ghalib shayari on zindagi #mirza ghalib shayari hindi status #SHAYARI OF GHALIB ON ISHQ #MOHABBAT #ISHQ #DARD #HEART BREAK


  1. ये भी पढ़िए : RAHAT INDORI FAMOIUS SHAYARI
  2. MUNAWWAR RANA SHER
  3. YAAD SHAYARI
  4. FILHAAL SHAYARI
  5. PYAR BHARI SHAYARI


FOR VIDEO: AAJ BHI JINDA HE MIRJA GHALIB KE YE 10 SHER
आज भी जिन्दा हे मिर्ज़ा ग़ालिब के ये १० शेर




No comments:

Post a comment