Tuesday, 4 June 2019

Break up खामोश... सन्नाटा.... | DARD ..-by Deepak Bansal

Shayar ki Kalam se dil ke Arman...
"Break up"ke Baad fir se pyar karne se darna

1.इन खमोश सन्नाटो में ये शोर कैसा है!
तकलीफों के इन बादलों में खुशियों का उजाला कैसा है!
भ्रम है मेरा या किस्मत मेहरबान है,
दिल में उठ रहा फिर से तूफान है!
                                            
                                            video also available here

No comments:

Post a Comment